लाजवंत आप इसे लाजवर्त

अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करें

लाजवंत आप इसे लाजवर्त भी कहते हैं यह एक नीले रंग का चमकदार धब्बा से युक्त रत्न है जो किसी राशि अथवा ग्रह से विशेष संबंधित नहीं है लाजवर्त अफगानिस्तान में पर्याप्त मात्रा में पाया जाने वाला एक के चमत्कारी रत्न है जिसे हम भूत प्रेत जादू टोना मानसिक अशांति रोग अथवा काम में आ रही बाधा तथा पढ़ाई में मन लगने हेतु धारण किया जाता है।

ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों ने शोध एवं गहन अध्ययन करने के पश्चात ऐसा माना है कि यह जो पत्थर है लाजवर्त यह शनि ग्रह से कहीं ना कहीं संबंध जरूर रखता है इसका किसी ना किसी प्रकार से शनि ग्रह से संबंध है।

ज्योतिष में अगर हम बात करें शनिदेव की तो शनि देव मेष लग्न, कर्क लग्न, सिंह लग्न, वृश्चिक लग्न व धनु लग्न में अकारक ग्रह माना गया है, इन लग्न में शनि देव अच्छे फल नहीं देते इसलिए इस लग्न के जातकों को शनि देव के रत्न पहनने की मनाही कही गई है, वही वृषभ लग्न, मिथुन लग्न, कन्या लग्न, तुला लग्न, मकर एवं कुंभ लग्न वाले जातकों के लिए शनि देव शुभ माने गए हैं किंतु मित्रों यहां पर 

आप यदि शनि की महादशा आपके जीवन में चल रही हो शनि की ढैया चल रही हो अथवा शनि की साढ़ेसाती के कष्टों का आपको सामना करना पड़ रहा है तो आप निश्चित तौर पर लाजवर्त रत्न धारण कर सकते हैं यह रत्न स्थाई रूप से धारण नहीं किया जाता है यह रत्न केवल मात्र अस्थाई रूप से धारण किया जाता है कभी भी किसी भी व्यक्ति के जीवन में शनि के द्वारा किसी भी प्रकार की पीड़ा भोग रहा हो उस स्थिति में व्यक्ति को उस दशा काल तक ही इस रत्न को धारण करना चाहिए। यह शनि की पीड़ा से मुक्ति दिलाता है उसके कष्टों से हमें अति शीघ्र लाभ प्रदान करता है।

यह राहु और केतु के लिए भी लाभकारी माना गया है किसी भी व्यक्ति के जीवन में यदि कालसर्प दोष हो अथवा राहु के द्वारा व्यक्ति पीड़ित हो तो भी लाजवर्त धारण किया जा सकता है किंतु मूलतः यह शनिदेव के पीडा में विशेष लाभकारी होता है।

लाजवर्त नौकरी में आ रही परेशानियों के लिए भी अति उत्तम माना गया है अगर आपको नौकरी में आपके कार्यस्थल में कहीं से भी किसी प्रकार की परेशानी आ रही हो तो आप इस रत्न को धारण करके उस परेशानियों से निजात पा सकते हैं लाजवर्त कई प्रकार के लाभों को प्रदान करने वाला रत्न माना गया है।

लाजवर्त को किसी भी रत्न के साथ पहना जा सकता है यह कोई राशि रत्न नहीं है इसके पहनने से किसी भी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं माना गया है यह आपको मात्र केवल लाभ ही प्रदान करता है इसमें किसी भी प्रकार का कोई बुरा प्रभाव नहीं पाया गया है आप इसे शनिवार के दिन चांदी में दाहिने हाथ की मध्यमा उंगली में धारण कर सकते हैं इसे धारण करने से पहले यदि आप शिवलिंग में स्पर्श करा करके धारण करेंगे तो यह बहुत ही लाभकारी रहेगा क्योंकि शनि देव को शिव का अंश माना गया है शिवलिंग में स्पर्श कराकर के और आप इसे धारण करते हैं तो विशेष लाभकारी रहेगा अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में दुर्घटना का योग बना हुआ है तो आप इस रत्न को 27000 36000 55000 सवा लाख महामृत्युंजय मंत्र से सिद्ध करके धारण करने से दुर्घटना में बहुत ही राहत मिलती है।

लाजवर्त को धारण करने से पहले यदि आप इसे कुछ समय के लिए या चार पांच घंटों के लिए सरसों के तेल मैं रख कर, फिर इसे धारण करने से इसके विशेष शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

लाजवर्त रत्न कम समय के लिए ही पहनना चाहिए। जब तक कुंडली में शनि की साढ़ेसाती का प्रकोप रहे तब तक ही इस रत्न को धारण करना चाहिए। जैसे ही शनि, राहु और केतु की दशा समाप्त हो जाए, लाजवर्त रत्न को बहते पानी में प्रवाह कर देना चाहिए।

Kundli Button 2
Lucky Gemstone 2

सावधान रहे – रत्न और रुद्राक्ष कभी भी लैब सर्टिफिकेट के साथ ही खरीदना चाहिए। आज मार्केट में कई लोग नकली रत्न और रुद्राक्ष बेच रहे है, इन लोगो से सावधान रहे। रत्न और रुद्राक्ष कभी भी प्रतिष्ठित जगह से ही ख़रीदे। 100% नेचुरल – लैब सर्टिफाइड रत्न और रुद्राक्ष ख़रीदे, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें, नवग्रह के रत्न, रुद्राक्ष, रत्न की जानकारी और कई अन्य जानकारी के लिए। आप हमसे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते है

नवग्रह के नग, नेचरल रुद्राक्ष की जानकारी के लिए आप हमारी साइट Gems For Everyone पर जा सकते हैं। सभी प्रकार के नवग्रह के नग – हिरा, माणिक, पन्ना, पुखराज, नीलम, मोती, लहसुनिया, गोमेद मिलते है। 1 से 14 मुखी नेचरल रुद्राक्ष मिलते है। सभी प्रकार के नवग्रह के नग और रुद्राक्ष बाजार से आधी दरों पर उपलब्ध है। सभी प्रकार के रत्न और रुद्राक्ष सर्टिफिकेट के साथ बेचे जाते हैं। रत्न और रुद्राक्ष की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करें
Default image
Gyanchand Bundiwal
ज्ञानचंद बुंदिवाल जेम्स फॉर एवरीवन और कोटि देवी देवता के जेमोलॉजिस्ट और ज्योतिषी हैं। जेमोलॉजी और ज्योतिष के क्षेत्र में 16 से अधिक वर्षों का अनुभव हैं। जेम्स फॉर एवरीवन मैं आपको सभी प्रकार के नवग्रह के नाग और रुद्राक्ष उच्चतम क्वालिटी के साथ और मार्किट से आधी कीमत पर मिल जाएंगे। कोटि देवी देवता में, आपको सभी देवी-देवताओं की जानकारी प्राप्त कर सकते है, जैसे मंत्र, स्तोत्र, आरती, श्लोक आदि।

100% नेचुरल लैब सर्टिफाइड रत्न और रुद्राक्ष। मार्किट से लगभग आधि कीमत पर उपलब्ध है। मुफ्त पैन इंडिया डिलीवरी और मुफ्त 5 मुखी रुद्राक्ष के साथ। अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें